ईश्वर से दिल की बात

जो हर रूप में मनमोहक है,जो हर कण-कण में समाया है,जिनके होने या ना होने कि,हर किसी की अपनी ही परिभाषा है,उन निराकार ईश्वर का विवरण करने का आभास ही कुछ अनमोल है। घुंघराले केश, नैनो की बोली,नटखट मुस्कान, मधुर वाणी,ने कर दिया मुझे मदहोश। बातें करने को मन है बड़ा चंचल,लाड लड़ाकर खीर पुरीखिलाने… Continue reading ईश्वर से दिल की बात

औरत की परिभाषा

करुणा की मुरत, ममता की देवी,औरत ही है हर जीव की रचनाकार।हर रूप में झलकाती है प्रेम भाव,हर मसले को सुलझाती है कला भाव सेयही है प्राकृतिक स्वभाव एक औरत का। दे दो उसे बस आदर, समय और प्यार के कुछ पल।न्योछावर कर देगी वो खुशी खुशी अपने जिंदगी के हर पल।। #मां # जीवन… Continue reading औरत की परिभाषा

Fathers Day Special Hindi Poem

उंगली पकड़ के जिसने चलना सिखाया,नए खिलौने, नए कपड़ो से लाड लडाया,पढ़ा लिखा कर हमें काबिल बनाया,ठोकर खाकर फिर उठना सिखाया,अपनी इच्छाओं को त्याग करहमारे सपनों को पूरा किया।। हां , वह पिता ही है,जिसने कभी अपनी तकलीफों को छुपा के,हमारे आंचल में ढेर सारी खुशियों को भर दिया,परिवार की नीव बन कर,हर सुख-सुविधा से… Continue reading Fathers Day Special Hindi Poem